Contact Information

Theodore Lowe, Ap #867-859
Sit Rd, Azusa New York

We Are Available 24/ 7. Call Now.

भारतीय क्रिकेट टीम के खब्बू बल्लेबाज और लिटिल मास्टर नाम से मशहूर सुनील गावस्कर ने एक अख़बार में लिखे कॉलम के ज़रिए कुछ अतीत की बातों को साझा किया है. इस दौरान उन्होंने कई ऐसी बातें भी सामने रखीं, जिन्हें जानकार आप भी सोच में पड़ जायेंगे.

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि उन्हें आज तक समझ नहीं आया कि 1978-79 में घर में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भी कप्तानी से क्यों हटा दिया गया था. जबकि इस सीरीज में उन्होंने 700 से ज्यादा रन भी बनाए थे.

sunil gavaskar

भारत ने छह मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी. इस सीरीज के बाद गावस्कर के स्थान पर एस. वेंकटराघवन को टीम का कप्तान बनाया गया था.

गावस्कर ने अपने कॉलम में लिखा है, ‘वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद भी मुझे कप्तानी से हटा दिया गया था, जबकि इस सीरीज में मैंने 700 से ज्यादा रन बनाए थे.’

गावस्कर ने आगे लिखा, ‘मुझे अभी तक इसका कारण नहीं पता, लेकिन शायद मैं उस समय कैरी पैकर वर्ल्ड सीरीज क्रिकेट से जुड़ने को तैयार था. इसलिए शायद हटा दिया गया हो. चयन से पहले मैंने बीसीसीआई के साथ करार किया और बताया कि मैं किसके लिए वफादार हूं.’

sunil gavaskar

गावस्कर ने बताया कि उन्होंने किस तरह बिशन सिंह बेदी को टीम में रखने के लिए चयनकर्ताओं को मानाया. गावस्कर ने कहा, ‘समिति ने फैसला किया था कि तीन मैचों के बाद वह बेदी को हटा देंगे.’

गावस्कर ने कहा, ‘जब मैंने पाकिस्तान सीरीज के बाद कप्तान के तौर पर उनका स्थान लिया. तभी समिति उन्हें हटाना चाहती थी. मैंने कहा कि वह अभी भी देश में बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हैं और इसलिए उन्होंने पहले टेस्ट मैच में उन्हें मौका दिया.’

Share:

administrator