Contact Information

Theodore Lowe, Ap #867-859
Sit Rd, Azusa New York

We Are Available 24/ 7. Call Now.

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जंग में अब महिला अधिकारी भी कंधे से कंधा मिलाकर लड़ेंगी. जी हां… आपने बिल्कुल सही पढ़ा है.

दरअसल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) ने आईपीएस अधिकारी चारु सिन्हा को आतंकवाद प्रभावित श्रीनगर सेक्टर के आईजी पद पर नियुक्त किया है. सबसे ख़ास बात ये है कि श्रीनगर सेक्टर में सीआरपीएफ की आईजी बनने वाली चारु सिन्हा पहली महिला अधिकारी हैं.

charu sinha

सीआरपीएफ श्रीनगर सेक्टर की आईजी बनीं चारु सिन्हा 1996 बैच की तेलंगाना कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं. चारु के साथ ही 6 आईपीएस और 4 सीनियर कैडर अधिकारी भी सीआरपीएफ में शामिल हुए हैं. और कुछ का तबादला हुआ है.

IPS अधिकारियों में महेश्वर दयाल (झारखंड सेक्टर), PS रानपीसे (जम्मू सेक्टर), राजू भार्गव (वर्क) शामिल हैं. वहीं कश्मीर में ऑपरेशन हेड राजेश कुमार का ट्रांसफर संजय कौशिक के साथ देहरादून सेक्टर में हो गया है.

यह पहला मौका नहीं है, जब चारु सिन्हा को कोई चुनौतीपूर्ण टास्क दिया गया हो. इससे पहले भी वह सीआरपीएफ बिहार सेक्टर की आईजी रहते हुए नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में शामिल रह चुकी हैं. चारु ने बतौर आईजी बिहार रहते हुए सीआरपीएफ ने कई सफल नक्सल अभियान को अंजाम दिया था.

charu sinha

बिहार के बाद उनका ट्रांसफर बतौर आईजी जम्मू कर दिया गया, जहां उनका लंबा और शानदार कार्यकाल रहा. इसके बाद सोमवार को उनका तबादला श्रीनगर सेक्टर में कर दिया गया. सीआरपीएफ के मौजूदा डायरेक्टर जनरल (डीजी) ए.पी. माहेश्वरी भी 2005 में श्रीनगर सेक्टर के आईजी पद पर रह चुके हैं.

बता दें कि श्रीनगर सेक्टर की शुरुआत 2005 में हुई थी. सीआरपीएफ की इस सेक्टर का काम आतंक विरोधी अभियानों को भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद से अंजाम देना है. अब तक कभी भी यहां पर आईजी के रूप में महिला अफसर की तैनाती नहीं हुई थी.

सीआरपीएफ के श्रीनगर सेक्टर में जम्मू-कश्मीर के तीन जिले बडगाम, गांदेरबल, श्रीनगर और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख आता है. इस सेक्टर में 2 रेंज, 22 कार्यकारी यूनिट और 3 महिला कंपनी आती है. इसके अलावा इस सेक्टर का ग्रुप सेंटर-श्रीनगर पर प्रशासनिक कंट्रोल भी है.

यानी साफ़ है कि चारु सिन्हा के सामने मुश्किलें तमाम हैं. लेकिन इस जांबाज़ महिला अधिकारी के इरादें भी कमज़ोर नहीं. सामना डटकर होगा.

Share:

administrator