Contact Information

Theodore Lowe, Ap #867-859
Sit Rd, Azusa New York

We Are Available 24/ 7. Call Now.

अल्बर्ट आइंस्टाइन को कौन नहीं जानता है. इस महान वैज्ञानिक को मानव इतिहास का सबसे बुद्धिमान व्यक्ति होने का गौरव हासिल है. अल्बर्ट आइंस्टाइन ने दुनिया को अपनी कई महत्वपूर्ण और गूढ खोजों से अवगत कराया, जिनके बिना यह दुनिया आज ऐसी नहीं होती.

यूं तो अल्बर्ट आइंस्टाइन किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. लेकिन उनसे जुड़ी हुई कुछ ऐसी जानकारियां भी हैं, जिनसे हो सकता है आप अभी तक अनजान हों. तो आज हम बात उन्हीं की करेंगे।

अल्बर्ट आइंस्टाइन का जन्म 14 मार्च 1879 को जर्मनी में हुआ था. आइंस्टाइन शुरुआत के 4 साल तक कुछ भी नहीं बोल पाते थे, जिसकी वजह से उनके परिवार को लगा कि वह मानसिक रूप से मंद हैं. लेकिन अल्बर्ट आइंस्टाइन ने एक रात शाम को भोजन के समय पहली बार “the soup is too hot” बोला यह सुनकर सब बहुत खुश हुए. इसपर उनके पिता ने उनसे पूछा कि वह इससे पहले क्यों नहीं बोले। इसपर अल्बर्ट ने जवाब दिया कि इससे पहले सब कुछ सही और मैनेज्ड था.

scientist

यही नहीं. ऐसा कहा जाता है कि जन्म के समय आइंस्टाइन का सर बहुत बड़ा था. लेकिन कुछ ही हफ्तों में उनका सर अपने आप ही नॉर्मल शेप में आ गया था.

1- अल्बर्ट आइंस्टाइन की याददाश्त कुछ खास अच्छी नहीं थी, जिसकी वजह से उनको टेलीफोन नंबर और नाम याद रखने में दिक्कत होती थी. उनका मानना था कि जो चीजें किताबों में से ढूंढ कर ली जा सकती है. उनको याद करके अपने मस्तिष्क की ऊर्जा क्यों खर्च की जाए.

2- एक बार आइंस्टाइन प्रिंसटन से कहीं जाने के लिए ट्रेन में सफर कर रहे थे. जब टिकट चेकर उनके पास आया तो वह अपनी टिकट ढूंढने के लिए अपनी जेबें टटोलने लगे. जेब में टिकट ना मिलने पर उन्होंने अपने सूटकेस को चेक किया। वहां पर भी टिकट ना पाकर अपनी सीट के नीचे और आसपास खोजने लगे.

यह देख कर टिकट चेकर ने उनसे कहा कि यदि आप से टिकट खो गई है, तो कोई बात नहीं मैं आपको जानता हूं. आपने टिकट जरूर ही ली होगी.

scientist

यह कहकर वह टिकट चेकर आगे के यात्रियों की टिकट चेक करने लग गया. सभी यात्रियों की टिकट चेक करने के बाद जब वह वापस जाने लगा. तब उसने देखा कि आइंस्टाइन अब भी अपनी सीट के नीचे टिकट ढूंढ रहे थे. उन्हें ऐसा करते देख टिकट चेकर ने उन्हें फिर से कहा आप परेशान मत होइए। आपसे टिकट नहीं मांगा जाएगा। इस पर आइंस्टाइन ने कहा वह तो ठीक है पर टिकट के बिना मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे कहां उतरना है.

3- आइंस्टाइन को बचपन से ही मोजे पहनने पसंद नहीं थे. क्योंकि बचपन में यह उनकी पांव की उंगलियों के पास से फट जाते थे. और उन्हें इससे परेशानी होती थी. इसके साथ ही वे अपने बाल कटवाना भी कम ही पसंद करते थे. यही कारण है कि कुछ खास मौकों को छोड़कर बाकी हर जगह पर उनके बाल लंबे और और अव्यवस्थित ही हैं. बाद में उनकी इस हेयर स्टाइल को जीनियस हेयर स्टाइल भी कहा जाने लगा.

4- आइंस्टाइन को स्मोकिंग पाइप पीने का जुनून इस कदर था कि एक बार वे नाव में सैर करते हुए नदी में गिर गए. लेकिन इस दौरान भी उन्होंने अपनी पाइप को बड़ी हिफाजत से अपने हाथ में संभाल के रखा इस बारे में उनका कहना था की तंबाकू सेवन की मदद से उन्हें दुनियादारी से जुड़े और व्यावहारिक मामलों में सही नतीजों तक पहुंचने और शांत रह पाने में बहुत मदद मिलती है.

अंत में सबसे रोचक बात. जो आइंस्टाइन के बारे में हमेशा कही जाती है. और ये बेहद दिलचस्प भी मालूम पड़ती है.

5- अल्बर्ट आइंस्टाइन के बारे में कहा जाता है कि वह दिन में लगभग 10 घंटे तक सोते थे. ऐसा करने के पीछे उनका मानना था कि इससे वे कोई भी काम बहुत अच्छे तरीके से कर पाते हैं.

कहानी ख़तम.

Share:

administrator