Contact Information

Theodore Lowe, Ap #867-859
Sit Rd, Azusa New York

We Are Available 24/ 7. Call Now.

बॉलीवुड का एक मात्र ऐसा कलाकार है, जिसके फैन न सिर्फ आम आदमी, बल्कि फ़िल्मी स्टार्स भी हैं. उसके डायलॉग डिलेवरी और डांस पर तो मानों सभी झूम पड़ते हैं. यहां तक कि सलमान खान और संजय दत्त भी कई बार उसे बॉलीवुड का सबसे बेहतरीन कलाकार बता चुके हैं.

उस कलाकार का नाम है. गोविंदा।

लेकिन आज की बात गोविंदा के फ़िल्मी करियर की नहीं। बल्कि उनके झगड़े पर होगी।

मशहूर डायरेक्टर डेविड धवन और गोविंदा की जोड़ी को सबसे सफलतम जोड़ियों में गिना जाता था. लेकिन अब एक ऐसा समय भी आ गया है कि दोनों एक दूसरे को देखना तक पसंद नहीं करते।

गोविंदा ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उन्होंने डेविड धवन से इतने सालों में बात क्यों नहीं की? जिस डायरेक्टर के साथ उन्होंने 17 फिल्में की हैं, उनके साथ काम करते भी नज़र नहीं आ रहे? आखिर ऐसी क्या बात हो गयी?

गोविंदा ने कहा- ”वो मुझसे बात करने लायक तब होंगे, जिस वक्त उनके बेटे (वरुण धवन) उनके साथ 17 पिक्चर करेंगे. मुझे नहीं लगता कि उसका बेटा भी उसके साथ 17 पिक्चरें करेगा. क्योंकि वो डेविड धवन का बेटा है. पढ़ा-लिखा है. किसी के साथ 17 पिक्चर करने का क्या मतलब होता है ये भी हमें नहीं पता था. मुझे तो संजय दत्त ने कह दिया था कि एक पंजाबी आ रहा है. उस टाइम पर मैं बहुत सारे पंजाबियों को काम दिया करता था. फिर डेविड धवन आए और मुझे अच्छे लगे. मुझे लगा कि मैं उनके साथ बहुत सारी हिट फिल्में दे सकता हूं. उनके साथ मैंने जैसा रिश्ता निभाया है, मैंने अपने किसी रिश्तेदार के साथ भी नहीं निभाया. मेरे भाई डायरेक्टर हैं, मैंने उनके साथ भी 17 पिक्चर नहीं की है.”

आगे गोविंदा ने कहा- ”जब मैंने उनके साथ 17 पिक्चरें पूरी कर ली थी, तब मैंने उन्हें ‘चश्मेबद्दूर’ का सब्जेक्ट सुनाया. उन्होंने वो फिल्म ऋषि कपूर के साथ शुरू कर दी. फिर मैंने उन्हें फोन किया और बातचीत हुई. इसके बाद मैं पॉलिटिक्स से बाहर आया था. मैं थोड़ा बदल गया था. मैंने अपने सेक्रेट्री को उसके पास भेजा और कहा कि अपना फोन ऑन रखना. मैं सुनना चाहता हूं कि वो कहता क्या है. मैंने फोन पर सुना कि डेविड कह रहा है कि चीची बहुत सवाल पूछने लग गया है. इसलिए मेरा दिल नहीं है कि मैं उसके साथ काम करूं. उसे कहो कि छोटा-मोटा रोल उसे कहीं मिल जाए, तो कर ले.

डेविड की बात मुझे दिल पर लग गई. मैंने चार-पांच महीने उससे बात नहीं की. लेकिन मैंने उसे फिर से फोन किया. फिर मैंने कहा कि जो तुम कह रहे हो, वही कर लेते हैं. गेस्ट अपीयरेंस करते हैं. तुम जहां भी शूट कर रहे हो, मैं आकर कुछ सेकंड का सीन शूट कर के चला जाता हूं. इसके बाद उसका फोन नहीं आया. मुझे लगता है वो किसी के कहे में है.”

ये पहली बार नहीं है, जब गोविंदा ने डेविड धवन से अपने रिश्ते खराब होने के बारे में मीडिया में बात की है. पिछले मौकों पर गोविंदा ने डेविड के बारे में क्या कहा था. वो भी जान लें.

2014 की शुरुआत में गोविंदा और डेविड धवन के बीच दिक्कत होने की बात आम हो गई थी. तब गोविंदा ने एक स्टेटमेंट जारी किया. इसमें उन्होंने कहा कि ‘चश्मेबद्दूर’ का आइडिया डेविड धवन को उन्होंने दिया था. लेकिन अचानक उन्हें पता लगा कि उन्होंने ऋषि कपूर को लेकर फिल्म की शूटिंग शुरू कर दी है.

2015 में गोविंदा ने खुले तौर पर कहा कि वो डेविड धवन के साथ काम नहीं करना चाहते. क्योंकि डेविड बुरे समय में उनके साथ खड़े नहीं रहे. गोविंदा ने कहा कि डेविड को ये लगने लगा कि वो उनकी फिल्म में काम करने लायक नहीं रहे. ऐसे लोगों के साथ काम नहीं करना चाहिए.

‘जुड़वा 2’ की शूटिंग के दौरान ये खबर आई कि एक्टर-डायरेक्टर जोड़ी के बीच चीज़ें और ज़्यादा खराब हो गई हैं. ऐसा इसलिए कहा गया क्योंकि ‘जुड़वा 2’ में ओरिजिनल फिल्म के दो गाने रीमेक किए गए थे. इनमें से एक था ‘चलती है क्या 9 से 12’. ओरिजिनल गाने में एक लाइन है- ‘गोविंदा है हीरो उसका और माधुरी हीरोइन है’. इस गाने के रीमिक्स वर्जन से गोविंदा वाली लाइन हटा दी गई.

इस बात को लेकर जब सवाल किए गए, तो डेविड धवन ने कहा कि उनके और गोविंदा के बीच कोई दिक्कत नहीं है. डेविड ने कहा था कि अगर गोविंदा इस बात से नाराज हैं कि उन्होंने साथ काम नहीं किया, तो उनका नाराज होना बनता है. ऐसी कोई बात नहीं है, मीडिया खामखा इन खबरों को हवा दे रही है.

इसके बाद गोविंदा ने 2017 में एक इंटरव्यू में कहा डेविड धवन उनके पॉलिटिक्स में जाने की वजह से प्रेशर में आ गए होंगे. उन्हें लग रहा होगा कि वो उन पर बोझ बन जाएंगे. गोविंदा ने आगे कहा कि शायद डेविड का नेचर खुद से ज़्यादा सफल लोगों से जलने वाला है. इंडस्ट्री का भी यही नेचर है. गोविंदा ने इसमें ये भी जोड़ा कि जिसमें खुद अच्छा करने की काबिलियत नहीं होती, वो दूसरों ईर्ष्या करते है.

गोविंदा कई बार पब्लिक प्लैटफॉर्म पर ये कह चुके हैं कि वरुण से उनकी तुलना उन्हें नहीं पसंद. हालांकि, इस बारे में न तो कभी डेविड धवन ने बात की है, ना ही उनके बेटे वरुण धवन ने.

लेकिन आये दिन गोविंदा का सार्वजानिक मंचों से गुस्सा इस बात पर मुहर लगा देता है कि दोनों के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. अब देखना होगा आखिर ये लड़ाई कभी दोस्ती में बदल पायेगी या नहीं।

Share:

administrator